Treatment facility,
आदर्श होमियो क्लिनिक, सुविधा, Available facility,
Subidha
बिमार की सुविधा

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

सुविधा Facility in Clinic

  • विमार की स्थिती को देखकर ही उसका ईलाज किया जाता है। यदी यह स्थानांतरण के लायक रहता है तो समय के अनुरूप रोगी को स्थानांतरित कर दीया जाता है जिससे समय रूपया तथा रोग नियंत्रण के लिए प्रयास का प्रयाप्त समय मिलता है।
  • दुर – दराज से आनेवाले के लिए दवा मगवाने की व्यवस्था भी है। एक ही समय आप पुर्ण कोर्श की दवा ले सकते है, यदी ऐसा सम्भव हुआ तो।
  • रोगी के रोग के पुराना पुर्जा का विवरण का अध्ययन करके उसके उपयोगीता को सामिल किया जा सकता है। रोग के समय के साथ होने वाले परिवर्तन की जानकारी के लिए यह आवश्यक होता है।
  • नये-पराने रोगी का विवरण रखा जाता है, जिससे रोगी का पुरजा खोने पर उसका ईलाज बाधित नही होता है।
  • विमारी के जटिलता के हिसाब से दबाई के समय को निर्धारीत किया जाता है। 8/3/2020

1. कम्प्युटर के द्वारा भी दवा चुनी जाती है।
2. यहॉ नये, पुराने एवं असाध्य रोगों का सफल इलाज किया जाता है।
3. लाइलाज विमारी में भी यहॉ की दवा विशेष लाभदायक है।
4. यहॉ नियमित जॉच की व्यवस्था है,जिससे असामयिक रुप से होने वाली बीमारी से बचाव होता है।
5. विभिन्न प्रकार की बीमारी जैसे-
• मानसिक रोग‌- स्मरणहीनता, चिरचिरा होना, पागलापन, निंद न आना, गहरी निराशा, गहरा डर, गहरा भय, गहरी ऊदसी।
• स्वाशनली सम्वंन्धी रोग- क्षय रोग, कफ, सीना मे दर्द।
• पेट सम्वंन्धी रोग- पेट का दर्द, सुजन, गैस बनना, भुख न लगना, अपच।
• मुत्रनली सम्वंन्धी रोग- जलन, पेडु मे दर्द,, बुंद-2 पेसाव, पथरी, पेसाव से खून आना।
• मलद्वार सम्बन्धी रोग:- बाबसीर, खून आना, जलन, दर्द होना, खुजली।
• ऑख, कान, नाक, गला सम्वन्धी रोग- ऑख आना, दृष्टि कम होना, कान बहना, कम सुंनना, दर्द होना, साइनोसाइटिस, सर्दी, टॉनसिलाइटिस, गले मे खरास, दॉत मे दर्द, अल्सर।
• त्वचा सम्वंन्धी रोग- सफेद दग, बल गिरना, सफेद होना, घाव होना एक्जिमा, जुलपिट्टी।
• नस एवं नाडी सम्व्न्धी रोग- साइटिका, सुन्नापन, झिनझिनी, चिंटी रेंगने जैसी अनुभुति।
• जोंड़ो का दर्द- गठिय, आर्थराईटिस, जोंड़ो का सूजन, कमर तथा रीढ़ की हड्डी का दर्द, हड्डी का टुट जान।
• स्त्रियों तथा पुरुषों मे होने वाली गुप्त रोग।
 स्त्रि:- स्वेतप्रदर, खुन की कमी, चक्कर आना, बाझपन, मसिक सम्बंन्धि बिमारी, इत्यदि।
 पुरुष:- स्वप्नदोष, सिघ्रपतन, शुक्राणु की कमी।
• विभिन्न प्रकर के दर्द, हाथ पैर मे जलन, अपच, बदहजमी, निंद ना आना।
• अरुचि, पिलीआ(jaundice), बुखार, कमजोरी, कालाजार,इत्यादि।
बिमारीओं के लिये सम्पर्क करें।

क्लिनीक स्थल:- ट्रेनिग स्कूल महेन्द्रू के सामने वाले गली यानी मुहम्मदपुर लेन मे गैातम वुद्ध स्कूल के सामने।
विषेश मिलने पर

One thought on “सुबिधा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *